छत्तीसगढ़देश विदेश

सफलता की कहानी, ग्राम नागोपहरी में हर-घर पहुँचा नल, घर पर ही मिलने लगा शुद्ध पेयजल

 मुंगेली जिला से हरजीत कुमार की रिपोर्ट

मुंगेली – जिले के ग्राम नागोपाहरी विकासखण्ड मुंगेली का एक छोटा सा गांव है। भले ही इस गांव में रहने वाले परिवारों की संख्या कम है, लेकिन पानी को लेकर यहाँ की समस्या बहुत बड़ी थी। यहाँ के लोगों को पहले हैंडपंप से ही पानी मिलता था, लेकिन गर्मी के दिनों में हैंडपंप का जल स्तर नीचे चले जाने के कारण उन्हें पानी की एक बून्द भी नहीं मिलती थी, जिसके कारण उन्हें पानी के लिए दूर तक जाना पड़ता था, परंतु गांव में जल जीवन मिशन के तहत घरों में नल कनेक्शन मिलने से अब उनके घरो में पानी की धार बह रही है।
जिला मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ग्राम नागोपाहरी। जहां जल जीवन मिशन योजना के तहत सोलर ड्यूल पम्प लगाया गया है। जल संकट वाले इस ग्राम में हर साल गर्मी के दिनों में पानी की समस्या विकराल हो जाती थी। गाँव की ललिता मोहले ने बताया कि गांव में एक ही हैंडपंप था, जहां पानी के लिए उन्हें हमेशा लाइन लगनी पड़ती थी, वहीं गर्मी के दिनों में हैंडपंप का जलस्तर नीचे चले जाने के बाद उन्हें पानी के लिए लम्बी दुरी तय करना पड़ता था। गांव में जब से सोलर पंप लगा है तब से गांव वालों को आसानी से पीने का पानी मिलने लगा है। उन्होंने बताया कि घरों में पेयजल के लिए सबसे ज्यादा महिलाओं को ही परेशानी उठानी पड़ती थी। पानी के लिए उन्हें दूसरों के घरो में जाना पड़ता था कभी उन्हें पानी मिलता था कभी उन्हें खाली हाथ ही लौटना पड़ता था लेकिन जब से उनके घर में नल कनेक्शन लगा है, तब से उन्हें भरपूर पानी मिल रहा है। दिव्यांग सुरुचि आहिरे ने बताया कि सोलर ड्यूल पम्प लगाना बहुत अच्छी पहल है। इससे उन्हें स्वच्छ पेयजल मिल रहा है। घरों में नल का कनेक्शन भी लगा है। इसी तरह अन्य ग्रामीणों ने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत उनके घरों में नल कलेक्शन के माध्यम से शुद्ध पेयजल मिलने से गांव वालों को राहत मिली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button